घायल गोवंश पहुंचा थाने

- in गांव जंक्शन

एनटी न्यूज / बलरामपुर

दर्द सबको होता है चाहे वह दोपाया हो या चौपाया या फिर और कोई जीव. जब हमको कोई तकलीफ होती है तो उसे व्यक्त करने के लिए हमारे पास शब्द होते हैं लेकिन मूक जानवरों को कोई तकलीफ होती है तो वह व्यक्त करने में भले ही असफल हों लेकिन दिखाने की कोशिश जरूर करते हैं जिससे उनका भी इलाज हो सके.

प्रोफेसर रजनी रंजन बने एनसीटीई समिति के सदस्य

(तस्वीर विचलित करने वाली होने का कारण ब्लर किया गया)

ऐसा ही एक वाकया 20 फरवरी को पचपेड़वा थाना में देखने को मिला. एक घायल सांड़ अपनी चोट व दर्द लिए थाने पहुंच गया. सांड़ थाना के नवनिर्मित प्रशासनिक भवन में जाकर बैठ गया. शायद वह ये बताना चाह रहा था कि उसको किसी ने मारा है. उसकी बात सुनी जाय. उसका इलाज कराया जाय. उसे काफी दर्द हो रहा है.

स्मृति शेषः ‘नामवर सिंह’ जितना बड़ा नाम उतना बड़ा दिल

(तस्वीर विचलित करने वाली होने का कारण ब्लर किया गया)

87 साल की उम्र में पढ़ने का जज्बा, लिया एडमिशन

हालांकि काफी देर बाद यह पता चलने के बाद पचपेड़वा थाना के दीवान रंजीत, नगरपंचायत सभासद सभाजीत श्रीवास्तव व इरफ़ान क़ादरी की ने डॉ राम विलास विश्कर्मा को बुलाकर गंभीर रूप से घायल गौ वंश का इलाज करा दिया.

अनिल अंबानी 4 सप्ताह के भीतर वापस करें बकाया, जाएंगे जेल