कोरोना योद्धा: जब-जब जनता कोरोना को याद करेगी तब-तब ‘अनुज कुमार झा’ नाम जनता गर्व से लेगी

एनटी न्यूज़डेस्क/लखनऊ

अयोध्या : इन दिनों कोरोना वायरस की महामारी से बचाव के लिए लागू हुए लॉक-डाउन में प्रदेश के कई जिलाधिकारियों ने जनसेवा की ऐसी मिसाल पेश की है कि जो इतिहास के सुनहरे पन्नों में हमेशा याद रखा जाएगा। जब-जब अयोध्या की जनता कोरोना को लोग याद करेगी तब-तब अनुज कुमार झा नाम जनता गर्व के साथ लेगी। अनुज ने कोरोना वायरस के इस संकटकालीन समय में दिन रात एक कर अयोध्या वासियों की जनसेवा में लगातार तत्पर हैं।

कोरोना योद्धा: राज्यसभा सांसद संजय सेठ ने वेंटीलेटर, पीपीई किट्स व गरीबों की मदद के लिए बढ़ाया हाथ


राज्य-सरकार का ऐलान का पालन- जरूरतमंदों तक पहुँच रहा राशन

अयोध्या जिलाधिकारी अनुज कुमार झा अपने जिले में ऐसी व्यवस्था की जिससे जनता को लॉक-डाउन का पालन करने में भी दिक्कत न हो साथ ही वह इस खतरनाक वायरस की चपेट में आने से बचे रहें।  न्यूज टैंक से बातचीत में अयोध्या के रहने वाले कई लोगों ने बताया की भारत-सरकार व राज्य-सरकार के द्वारा ऐलान किए हुए हर लाभ का उन्हें लॉक-डाउन में फायदा मिल रहा है। राशन को लेकर उन्ही लोगों ने बताया की राशन धारक के साथ-साथ उन्हें भी राशन मुहैया कराया गया जिनके पास राश-कार्ड तक नहीं है।

PM मोदी के कई मुद्दों पर असहमत, लेकिन अभी साथ लड़ने का समय : राहुल गाँधी

बेजुबान पशु पक्षी भूख से ना मरें- इसके लिए भी अयोध्या पूरी तरह तैयार

13 अप्रैल को घुमंतू पशुओं की भूख मिटाने सड़कों पर उतरे अनुज कुमार झा अयोध्या में इंसानों के साथ-साथ पशु पक्षियों के खाने की समुचित व्यवस्था की जिससे बेजुबान पशु पक्षी भूख से ना मरें। शहरी क्षेत्र में घुमंतु पशु होटल ढाबे व सब्जी मंडी के सहारे अपना पेट भरने के लिए निर्भर रहते थे। महामारी के कारण होटल ढाबे फलों की ठेली के साथ-साथ घरों के दरवाजे भी लॉकडाउन हो गए जिस कारण पशुओं को अपना पेट भरने में बड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने इन बेजुबानों के लिए भूसे हरे चारे के साथ-साथ चना, मूंगफली, ब्रेड, बिस्किट आदि की व्यवस्था की गई है। नगर निगम के निर्देशन में इन पशु पक्षियों को खाने के लिए उचित स्थान पर वितरित किया जा रहा।

WHO ने कोरोना से भी घातक महामारी Disinfodemic से दुनिया को किया अगाह

अपनी कार्यशैली की वजह से सरकार की ‘फेवरिट लिस्ट’ में शामिल

शासन की मंशा के अनुरूप जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तड़के तीन बजते ही रामलला को नए अस्थायी मंदिर में विराजमान किया तो पूरा प्रदेश अचरज मे पड़ गया। इस ऐतहासिक काम में अनुज कुमार झा की भूमिका सराहनीय रही। दरअसल, राम मंदिर ट्रस्ट (Ram Mandir Trust) में अयोध्या के जिलाधिकारी अनुज कुमार झा को भी नोमिनी मेंबर के रूप में शामिल किया गया है। उन्‍हें पिछले साल ही अयोध्‍या के डीएम पद की जिम्‍मेवारी दी गई थी। तब से वे बने हुए हैं। राम मंदिर पर जब सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया था, उस समय डीएम अनुज झा ने अयोध्या और आसपास के इलाकों में लॉ एंड ऑर्डर को बखूबी निभाया था। इसके बाद सीएम योगी आदित्‍यनाथ के निर्देश पर डीएम अनुज झा को यूपी सरकार की ‘फेवरिट लिस्ट’ में शामिल किया गया था।

देश में लॉकडाउन बढ़ने के बाद रेलवे ने भी कहा- 3 मई तक यात्री ट्रेन और प्लेन नहीं चलेंगी