गंगा मे नहाने गई आधा दर्जन लड़कियां डूबी तीन की मौत

न्यूज़ टैंक्स | लखनऊ

रिपोर्टर – अखिलेश कुमार


कौशांबी : यूपी के कौशांबी जनपद के पूरामुफ़्ती थाना इलाके में गंगा स्नान करने गई आधा दर्जन लड़कियां गहरे पानी में डूब गई। स्थानीय मल्लाहो ने सभी छह लड़कियों को गहरे पानी से बाहर निकाला। तीन लड़कियों की हालत गंभीर होने पर उन्हें नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

एक ही परिवार की तीन लड़कियों के मौत की सूचना के बाद कोहराम मच गया। घाट से लेकर मृतकों के घर तक लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। घटना की सूचना पर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। परिजनों ने बिना किसी तरह की कार्रवाई कराएं तीनों लड़कियों का अंतिम संस्कार कर दिया।

चायल तहसील के पूरामुफ़्ती थाना क्षेत्र के कुरई गांव निवासी मानसिंह की पंद्रह वर्षीया बेटी मीनू, देशराज की 14 वर्षीया बेटी आशा व माया राम की 12 वर्षीया बेटी सीता पड़ोस की तीन अन्य लड़कियों के साथ गंगा स्नान करने कुरई घाट गई थी। पुरुषोत्तम मास के चलते गंगा स्नान करने वालों की कुरई घाट पर भीड़ थी।

बताते हैं कि सभी छह लड़कियां गंगा में स्नान कर रही थी, तभी सीता गहरे पानी में चली गई। सीता को बचाने के लिए पहले मीनू और फिर आशा और उसके बाद अन्य लड़कियां गहरे पानी में चली गई। गहरे पानी में डूब रही लड़कियों को देखकर स्थानीय मल्लाहों ने उन्हें बचाने के लिए गंगा छलांग लगाया।

स्थानीय लोगों ने सभी छह लड़कियों को पानी से बाहर निकाला। तीन लड़कियों की हालत गंभीर देख उन्हें नजदीक के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। जबकि तीन अन्य लड़कियों की हालत बिल्कुल सामान्य है। एक ही परिवार के तीन लड़कियों की गंगा में डूब कर मृत्यु हो जाने की सूचना पर कोहराम मच गया।

तीनों लड़कियां आपस में चचेरी बहने हैं। गंगा घाट से लेकर मृतक लड़कियों के घर तक ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा हो गई। अस्पताल से तीनों शव जब घर पहुंचा तो परिवार में कोहराम मच गया गंगा। तीन लड़कियों की गंगा में डूबकर मृत्यु की सूचना पर एसडीएम चायल ज्योति मौर्या, क्षेत्राधिकारी कृष्ण गोपाल सिंह स्थानीय पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे।

परिजनों ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों से बातचीत करने के बाद शव का पोस्टमार्टम ना कराए जाने की विनती किया। उच्च अधिकारियों से विचार-विमर्श करने के बाद एसडीएम ने पंचनामा करने के बाद तीनों शव परिजनों को सौंप दिए। परिजनों ने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में गमगीन माहौल में तीनों हो लड़कियों का अंतिम संस्कार भी कर दिया।