पुलवामा हमले पर बोलीं कंगना – पाकिस्तान पर बैन नहीं, उसका विध्वंस ज़रूरी है

- in मनोरंजन, लखनऊ

अभिषेक मिश्रा

पुलवामा में सेना के जवानों पर हुए अब तक के सबसे भयानक हमले से पूरा देश सदमे में है. जम्मू-श्रीनर नेशनल हाईवे पर पुलवामा जिले के अवंतिपुरा के पास स्थित लेथपुरा में एक आत्मघाती हमलावर द्वारा एक वाहन में विस्फोटक भरकर सुरक्षा बलों के काफ़िले में से एक वाहन पर हमला किया. इस बर्बर हमले में 40 सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गए.
हाल‌ ही में ‘मणिकर्णिका’ में काम कर चुकी अभिनेत्री कंगना रनौत ने इस हमले पर अपना गहरा शोक जताया. ‘पिंक विला’ को दिए एक इंटरव्यू के दौरान जब कंगना से इस हमले के बारे में उनकी राय पूछी गयी तो उन्होंने कहा, “पाकिस्तान ने न सिर्फ़ हमारे देश की सुरक्षा पर हमला किया है, बल्कि इस हमले के ज़रिए उसने ख़ुलेआम हमें चुनौती दी है, हमारे आत्मसम्मान को गहरी चोट पहुंचाई है और हमारे बड़ा अपमान किया है. ऐसे में अब हमें एक निर्णायक कदम उठाना पड़ेगा वर्ना हमारी चुप्पी को हमारी कायरता समझ लिया जाएगा. आज भारत लहूलुहान है…  ऐसे में जो भी अहिंसा और शांति की बात करेगा उन सभी के मुंह को काला किया जाना चाहिए, फिर उन्हें गधे पर बिठाकर सरेआम सड़क पर घुमाना चाहिए और उन्हें तमाचे रसीद करने चाहिए.”
सब कंगना से जावेद अख़्तर और शबाना आज़मी द्वारा कराची में होनेवाले कैफ़ी आज़मी की जन्म शताब्दी से जुड़े जश्न के एक कार्यक्रम में नहीं जाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा,”शबाना आज़मी द्वारा सांस्कृतिक आदान-प्रदान पर रोक लगाने का फ़ैसला हैरानगी भरा है. ये वही लोग हैं जो ‘टुकड़े टुकड़े गैंग’ के समर्थक हैं. जब उरी हमले के बाद पाकिस्तान के कलाकारों पर बंदिशें लगायी गयीं जा चुकी हैं तो ऐसे में कराची में कार्यक्रम का आयोजन करने का क्या तुक है? अब वो अपना चेहरा बचाने की कोशिश कर रहे हैं. फ़िल्म इंडस्ट्री ऐसे देशद्रोहियों से भरी पड़ी है जो दुश्मनों का हौसला बढ़ाते रहते हैं. अब वक्त आ गया है कि कोई ठोस और निर्णायक कदम उठाया जाए. पाकिस्तान पर पाबंदी लगाना हमारा फ़ोकस नहीं होना, बल्कि पाकिस्तानी की बर्बादी हमारा मकसद होना चाहिए.”
बॉलीवुड के कई और सितारों ने भी इस आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए इसे एक कायराना हरकत करार दिया है. कंगना को जैसे ही जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए इस शॉकिंग हमले के बारे में पता चला उन्होंने ‘मणिकर्णिका’ की कामयाबी का जश्न मनाने के लिए रखी जानी वाली पार्टी को कैंसल करने का फ़ैसला लिया.