जीव-जंतु व मानव अंगों पर कविताएं लिख बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

- in Main Slide, नेशनल

एनटी न्यूज / लखनऊ / साहित्य

देश की प्रतिभाशाली खामोश लेखिका जो बरसों को खामोशी के बाद हमारे सामने आईं तो एक इतिहास बन कर. लेखिका, नीलम रानी गुप्ता ने न केवल विश्व की सबसे लंबी कविता लिख कर गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवाया बल्कि जीव जंतुओं पर 136, और मानव अंगों पर 115 अदभुत कविताएं भी लिख कर अपना नाम 2018 में दर्ज करवाया है.

कार्यभार संभालते ही एक्शन मोड में, शातिर गिरफ्तार

नीलम रानी गुप्ता, लेखिका/कवयित्री

साइंस की छात्रा होने के बावजूद साहित्य में रुझान

लेखिका की सबसे बड़ी खासियत यह है कि एक साइंस की छात्रा होने के बावजूद लेखन पर इनकी एक अच्छी पकड़ है. इनका लेखन सामाजिक ही नहीं बल्कि देश की समस्याओं को लेकर हमारे जीवन पर आधारित है. लेखिका द्वारा लिखित पुस्तकें “रूह से….” जो इनका पहला कहानी संग्रह है काफी सराहा गया है. इनकी तीन काव्य संग्रह भी निकल चुके हैं.

राजकीय पॉलीटेक्निक लखनऊ के छात्र चयनित

जिनमें–
पहला- रूह से कविता ( भाग 1) “एक संदेश,” जो कि सामाजिक विषयों पर आधारित है.
दूसरा- रूह से कविता (भाग 2) “उसकी खातिर “वर्ल्ड रिकॉर्ड जो बेटी बचाओ पर आधारित एक मार्मिक काव्य कथा है. इस पुस्तक की खासियत यह है कि इसमें लेखिका नीलम रानी गुप्ता ने निर्जीव वस्तुओं को भी जीवित दर्शाकर उनका वार्तालाप दर्शाया है. जो अपने आप में अदभुत है.
तीसरी काव्य पुस्तक -“रूह से कविता”( भाग 3 ) “एक संसार यह भी” वर्ल्ड रिकॉर्ड पुस्तक है.

जनरल हुड्डा ने कांग्रेस में शामिल होने वाली खबर को नकारा

पहले भी होती रहीं सम्मानित

लेखिका की कई रचनाएं 1987-88 में आगरा की विभिन्न साहित्यिक संस्थाओं द्वारा भी पुरस्कार प्राप्त कर चुकी हैं तथा नोटो द्वारा भी ऑर्गन ट्रांसप्लांट पर आपके स्लोगन चुने जा चुके हैं.

‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ कहने वालों के लिए यहां चिकन में छूट