चिकित्सा सेतु mobile app का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा हुआ विमोचन

- in अपना यूपी
एनटी न्यूज़डेस्क/लखनऊ
एक तरफ जहां दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है वहीं देश के उत्तर प्रदेश में कोरोना योद्धा बनकर उभरे आईएएस प्रशांत शर्मा ने ऐसा अप्लीकेशन बनाया जिससे काफी हद तक सरकारी एवं निजी, सभी डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ को लाभ होगा। जो समय रहते कोरोना से सतर्कता पर असरदार तरीके से काम करेगी। तकनीकी के सहारे कोरोना से जंग जीतने में यह अप्लीकेशन कारगर साबित होगी। जिसके चलते प्रशांत शर्मा की जितनी तारीफ की जाए कम है क्योंकि कोरोना से जंग जीतने के लिए सबसे बड़ी चीज है जागरूकता और सतर्कता जो इस अप्लीकेशन के जरिए उपयोगकर्ता को लाभ पहुंचाएगी।

KGMU लखनऊ तथा NISG हैदराबाद के साथ मिल कर बनाया प्रशांत ने ये एप

प्रशांत शर्मा IAS द्वारा, KGMU लखनऊ तथा NISG हैदराबाद के साथ मिल कर बनाए गए इस ऐप को चिकित्सा शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश ने सभी डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ आदि के प्रशिक्षण हेतु प्रचलित किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि चिकित्सा सेतु ऐप द्वारा कोरोना से लड़ने वाले हमारे पहली पंक्ति के योद्धा, हमारे डॉक्टर आदि, को प्रशिक्षित करने में बड़ा योगदान होगा। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि इस तरह का प्रशिक्षण उपलब्ध कराने वाली यह देश की पहली ऐप है।

COVID-19 से लड़ने के लिए चिकित्सा सेतु मोबाइल ऐप है बेहद कारगर

इस अवसर पर सुरेश खन्ना, चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने बताया कि सूचना प्रोद्योगिकी का प्रयोग कर सुशासन हेतु सफल प्रयोग करने में पारंगत प्रशांत शर्मा IAS द्वारा बनाई गई इस ऐप से प्रदेश में सरकारी एवं निजी, सभी डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ को लाभ होगा। सभी कोरोना वॉरियर्स के लिए (विशेषकर डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, सफाईकर्मी, पुलिस, अन्य अधिकारी आदि) कोरोना वायरस और COVID-19 से लड़ने के लिए मोबाइल ऐप है चिकित्सा सेतु।
इसमें सामान्य तथा तकनीकी प्रश्नों के उत्तर छोटे-छोटे वीडियो द्वारा समझाए गए हैं। चिकित्सा सेतु की अवधारणा एवं विकास प्रशान्त शर्मा IAS द्वारा, प्रशिक्षण वीडियो KGMU लखनऊ के विशेषज्ञों द्वारा तथा तकनीकी परामर्श National Institute of Smart Governance (NISG) हैदराबाद द्वारा किया गया है।
इस तरह कर सकते हैं डाउनलोड
To download, please write “ChikitsaSetu” in the search bar in Play Store