पाकिस्तान की चुनावी रैलियों में आत्मघाती हमला, अब तक 128 की मौत

- in Main Slide, इंटरनेशनल

एनटीन्यूज डेस्क/दिल्ली/श्रवण शर्मा

पाकिस्तान कि दो राजनीतिक रैलियों में आत्मघाती विस्फोट के चलते एक शीर्ष राष्ट्रवादी नेता समेत करीब 128 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। इस घटना में करीब 200 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हैं जिंनका इलाज चल रहा है।

डॉक्टर की पत्नी को चाकू से गोद-गोद कर मार डाला

विस्फोट के समय की तस्वीर

डॉन’ समाचार पत्र ने बलूचिस्तान के कार्यवाहक स्वास्थ्य मंत्री फैज काकर के हवाले से बताया कि विस्फोट में बीएपी नेता रायसानी समेत कम से कम 128  लोगों की मौत हो गई है। काकर ने कहा  ” शुरुआत में मृतकों की संख्या अधिक नहीं थी, लेकिन रायसानी समेत गंभीर रूप से घायल लोगों की अस्पताल में मौत हो गई।”

बीएसएनएल ने शुरू किया देश की पहली इंटरनेट टेलिफोन सेवा, रच दिया इतिहास

 

घायलों की मदद करते हुए

दारा सिंह: पहलवान से रामायण के ‘हनुमान’ तक का सफर “पुण्यतिथि विशेष”

उन्होंने बताया कि मृतकों की संख्या और भी बढ़ने की आशंका है। ख़बरों के मुताबिक़ आतंकवादियों ने बलूचिस्तान प्रांत के मासतुंग क्षेत्र में बलूचिस्तान अवामी पार्टी (बीएपी) के नेता सिराज रायसानी को निशाना बनाया।

बचाव दल अपना काम करते हुए

पहला विस्फोट

आतंकवादियों ने बलूचिस्तान प्रांत के मासतुंग क्षेत्र में बलूचिस्तान अवामी पार्टी (बीएपी) के नेता सिराज रायसानी की रैली को निशाना बनाया। जिला पुलिस अधिकारी मोहम्मद अयूब अचकजई ने कहा, ‘धमाके में रायसानी घायल हो गए थे। उन्हें फौरन क्वेटा ले जाया जाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया।

रैली में ब्लास्ट के बाद सन्नता छा गया

दूसरा विस्फोट

दूसरा सुसाइड अटैक खैबर पख्तूनवा के बन्नू इलाके में हुआ है। वहीं दूसरी घटना में शुक्रवार को ही खैबर पख्तूनख्वा के बन्नू इलाके में मुत्ताहिदा मजलिस अमाल नेता अकरम खान दुर्रानी की रैली में विस्फोट हुआ। पुलिस के अनुसार इस घटना में 5 लोगों की मौत हो गई जबकि 37 अन्य घायल हो गए। इस हमले में दुर्रानी बाल-बाल बच गए लेकिन उनको ले जा रही गाड़ी के परखच्चे उड़ गए।

 

घायलों को इलाज के लिए ले जाते हुए

 खबरें यहाँ भी 

बीएसएनएल ने शुरू किया देश की पहली इंटरनेट टेलिफोन सेवा, रच दिया इतिहास

दारा सिंह: पहलवान से रामायण के ‘हनुमान’ तक का सफर “पुण्यतिथि विशेष”

“किसान की बेटी” ने रचा इतिहास, स्वर्ण पदक जीतने वाली “हिमा दास” पहली भारतीय महिला

इस्लामिक स्टेट के कानून को जानकार कांप जाएगी आपकी रूह

आज लगेगा सूर्य ग्रहण, जानिए किन राशियों पर पड़ेगा इसका ज्यादा बुरा असर