एडवोकेट संगीता सिंह को भद्दी गलियां देने वाले करणी सेना के अध्यक्ष की नहीं हुई गिरफ्तारी, दिया धरना 

- in लखनऊ
एनटी न्यूज डेस्क।
लखनऊ। सामाजिक कार्यकर्ता एडवोकेट संगीता सिंह नें आज लखनऊ के जीपीओ स्थित गाँधी प्रतिमा पर भद्दी गलियां और जान से मारने की धमकी देने वाले मुख्य अभियुक्तों करणी सेना का पूर्वांचल अध्यक्ष जय सिंह और बलवंत सिंह की गिरफ्तारी हेतु धरना दिया जिसमें कई सामजिक संगठनों ने समर्थन दिया |
बता दें कि संगीता सिंह ने, जो सामाजिक कार्यकर्ता और पेशे से सुप्रीम कोर्ट में वकील भी हैं, उक्त घटना की शिकायत डायल 100 और 1090 पर देने के साथ ही लिखित शिकायत भी थाना गोमती नगर, लखनऊ में किया जिसके उपरांत अभियुक्तों के विरुद्ध एक प्राथमिकी सं- 0765/2019 अंतर्गत धारा 66 D सुचना प्रौद्योगिकी संशोधन अधिनियम 2008 व् 507 पर दर्ज कराया परन्तु पुलिस की निष्क्रियता के फलस्वरूप अब भी लगातार गलियां और धमकी मिलने का सिलसिला जारी है और अबतक कोई गिरफ़्तारी नहीं हुई है |
गौरतलब है कि  प्रथम सुचना रिपोर्ट में विवेचक का नाम श्री राम सूरत सोनकर, इन्स्पेक्टर का नाम दिया है जबकि IT ACT के अंतर्गत पंजीकृत अभियोग की विवेचना क्षेत्राधिकारी के स्तर के अधिकारी करेंगे। अतः इस प्रकरण की विवेचना सम्बंधित क्षेत्राधिकारी को स्थानांतरित किया जाये ताकि अभियुक्तों की गिरफ़्तारी ससमय संभव हो सके |
मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि राज्य के नागरिक के सम्मान की रक्षा और जान की सुरक्षा राज्य के मुखिया के नाते आपका कर्तव्य है | कई दिनों से मानसिक प्रताड़ना में हूँ पर अबतक कोई ठोस कार्यवाही नहीं हुई इसलिए अब तत्काल अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जाये जिससे सामाजिक न्याय हो सके |
हाईकोर्ट अधिवक्ता योगेश मिश्रा ने बताया कि कानून को अपना काम निष्पक्षता से करना चाहिए |
लोकतंत्र मुक्ति आन्दोलन के संयोजक प्रताप चन्द्र ने कहा कि पुलिस नौकरी में आने पर अधिकारी शपथ लेते हैं संविधान की परन्तु काम करते हैं सत्ताधारी पार्टियों की, करणी सेना जो नारी सम्मान करनें का ढोल पीटती है, उसी का अध्यक्ष एक महिला को भद्दी भद्दी गलियां सरेआम दे रहा है और पुलिस तमाम सबूत होने के बावजूद उसे अब तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है, जबकि कोई मुख्यमंत्री को फेसबुक पे टिप्पणी भर कर दे तो उसे रातोरात गिरफ्तार कर लेते हैं, यानि पुलिस नागरिकों में भेदभाव करते हुए कार्यवाही करती है।
सामाजिक न्याय की लड़ाई हेतु राष्ट्रीय राष्ट्रवादी पार्टी सहित कई संगठनों नें समर्थन दिया और ये आश्वस्त किया कि यदि गिरफ्तारी नहीं होती है तो राष्ट्रव्यापी आन्दोलन किया जायेगा और कानून व्यवस्था की लचर स्थिति को उजागर करेंगे |
राष्ट्रीय राष्ट्रवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह नें कहा कि नारी के सम्मान में हम खड़े हैं मैदान में, पार्टी हमेशा ही नारी के हित में समाजसेवा करती रही है और आज भी तत्पर है |