इस चैनल ने दिया संस्कृति को न्याय, क्या अखिलेश दे पायेंगे ?

एनटी न्यूज़ डेस्क / नई दिल्ली

संस्कृति राय हत्याकांड के मामले में एबीपी न्यूज़ के एंकर अभिसार शर्मा ने एक वीडियो वायरल किया था जिसमें वह हत्या को बलात्कार सिद्ध करने में तुले हुए थे. आज संस्कृति के परिजनों को मानसिक रूप से तंग करने का दंड अभिसार शर्मा को मिल गया है.

एबीपी न्यूज से आ रही खबरों के मुताबिक एंकर अभिसार शर्मा को निकाल दिया गया है. अभिसार शर्मा पर फ़ेक न्यूज के जरिए एक युवती और उसके परिवार को सामाजिक रूप से उत्पीड़ित करने का आरोप है. लखनऊ की संस्कृति नामक बच्ची की हत्या को जबरदस्ती बलात्कार में बदलने पर अमादा अभिसार शर्मा से जब इस बारे में सबूत मांगा गया तो वह चैनल प्रबंधकों के समक्ष सबूत पेश नहीं कर पाया.

फ़ेक न्यूज़ का बड़ा खामियाजा…

सूत्रों के अनुसार, एबीपी न्यूज के प्रबंध संपादक मिलिंद खांडेकर को भी फेक न्यूज मेकर अभिसार शर्मा के पक्ष में खड़े होने का खामियाजा भुगतना पड़ा और उन्हें भी इस्तीफा देने को कह दिया गया है. इस संबंध में और अधिक जानकारी मिलने पर खबर अपडेट किया जाएगा. लेकिन सारी सूचना ABP सूत्रों के आधार पर है. (साभार- स्पीक्स इंडिया डेली)

देखिए कैसे अभिसार शर्मा ने लखनऊ की संस्कृति हत्याकांड को बलात्कार कांड बनाकर उस मृतका और उसके पूरे परिवार को बदनाम किया था.

क्या था संस्कृति हत्याकांड और अभिसार का फ़ेक न्यूज?

घर लौट रही पॉलीटेक्निक छात्रा की निर्मम हत्या

अभिसार ने योगी सरकार को घेरने के लिए जोर-शोर से संस्कृति राय के बलात्कार के झूठ को फैलाया. संस्कृति राय के परिवार ने अभिसार शर्मा के ऐसे फेक और अमानवीय कृत्य के खिलाफ कानून का सहारा लिया. संस्कृति राय के परिजन ने इस मामले में लखनऊ पुलिस में मानसिक प्रताड़ना का मामला दर्ज कराते हुए इसमें एबीपी न्यूज एंकर अभिसार शर्मा को आरोपी बनाया.

संस्कृति की नृशंस हत्या पर कार्रवाई न होने से छात्रों में आक्रोश

संस्कृति राय के परिवार की शिकायत पर ही लखनऊ पुलिस ने अभिसार शर्मा को कारण बताओ नोटिस जारी किया है कि वह यह बताए कि किन तथ्यों के आधार पर उसने बलात्कार की झूठी खबर को फैलाया? अभिसार शर्मा ने एक नहीं, बल्कि कई वीडियो बनाकर संस्कृति राय और उसके परिवार को बदनाम किया और इसके बहाने योगी सरकार और लखनऊ पुलिस को जमकर कोसा.

संस्कृति को श्रद्धांजलि, लगे ‘वी वांट जस्टिस’ के नारे, निकाला कैंडल मार्च

अभिसार लगभग हर वीडियो में संस्कृति राय के बलात्कार की बात दोहराता रहा. एबीपी न्यूज से जुड़े सूत्र बताते हैं कि इस बारे में नोटिस मिलने पर जब चैनल प्रबंधक ने अभिसार से इस बारे में सबूत पेश करने को कहा तो वह सबूत पेश नहीं कर पाया और टाल-मटोल करने लगा.

संस्कृति हत्याकांडः पुलिस करेगी री-कंस्ट्रक्ट, संदिग्ध मोबाइल नंबर की छानबीन

इसी क्रम में समाजवाद की बात करने वाली पार्टी की प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक ने भी ट्वीट कर ग़लत संदेश आम जनमानस में भेजा और मृतका के परिजन को बदनाम करने का प्रयास किया था.

संस्कृति हत्याकांडः सोशल मीडिया में भी तेज हुई न्याय की मांग

संस्कृति हत्याकांडः अब एक हमउम्र रिश्तेदार संदिग्ध, पुलिस ने मांगा थोड़ा वक्त

अब पंखुड़ी पाठक के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए सोशल मीडिया पर मांग तेज होती जा रही है. देखें ट्वीट-