गणेश विसर्जन शुभ मुहूर्त, कैसे करें प्राण-प्रतिष्ठा जिससे गणपति कि बनी रहे आप पर दयादृष्टि

- in टॉप न्यूज़

एनटी न्यूज डेस्क/श्रवण शर्मा/लखनऊ

हिन्दुओं के आदि आराध्य देव है गजानन : गणेश जी हिन्दुओं के आदि आराध्य देव है। हिन्दू धर्म में गजानन को एक विशिष्टि स्थान प्राप्त है।

मंगलकारी देवता

कोई भी धार्मिक उत्सव, यज्ञ, पूजन इत्यादि सत्कर्म हो या फिर विवाहोत्सव हो, निर्विघ्न कार्य सम्पन्न हो इसलिए शुभ के रूप में गणेश जी की पूजा सबसे पहले की जाती है। गणेश की प्रतिष्ठा सम्पूर्ण भारत में समान रूप में व्याप्त है। महाराष्ट्र इसे मंगलकारी देवता के रूप में व मंगलमूर्ति के नाम से पूजा जाता है। दक्षिण भारत में इनकी विशेष लोकप्रियता ‘कला शिरोमणि’ के रूप में है। मैसूर तथा तंजौर के मंदिरों में गणेश की नृत्य-मुद्रा में अनेक मनमोहक प्रतिमाएं हैं।

गणपति

गणेश चतुर्थी पूजा

अंग्रेजी कैलेण्डर के अनुसार, गणेश चतुर्थी इस महीने 13 सितंबर 2018 से शुरू हो चुकी है । जो अगले 10 दिनों तक चलेगा। इसी दिन समस्त विघ्नग बाधाओं को दूर करने वाले, कृपा के सागर तथा भगवान शंकर और माता पार्वती के पुत्र श्री गणेश जी का आविर्भाव हुआ था।

बंगले, टोटी और होटल वाले हम पर सवाल न उठाये : दीपक मिश्रा

गणपति

अनन्त चतुर्दशी के दिन समाप्त

गणेशोत्सव अर्थात गणेश चतुर्थी का उत्सव, 10 दिन के बाद, अनन्त चतुर्दशी के दिन समाप्त होता है और यह दिन गणेश विसर्जन के नाम से जाना जाता है। अनन्त चतुर्दशी के दिन श्रद्धालु-जन बड़े ही धूम-धाम के साथ सड़क पर जुलूस निकालते हुए भगवान गणेश की प्रतिमा का सरोवर, झील, नदी इत्यादि में विसर्जन करते हैं।

पैसे नहीं दे पाने पर मरीज की लाश नहीं रोक सकता अस्पताल: स्वास्थ्य मंत्रालय

गणेश विसर्जन पर उमड़े भक्त

आवाहन और प्राण-प्रतिष्ठा

यदि भगवान गणपति आपके घर में अथवा पूजा स्थान में पहले से ही प्रतिष्ठित हैं तो षोडशोपचार पूजा में सम्मिलित आवाहन और प्रतिष्ठापन के उपचारों को नहीं करना चाहिए। आवाहन और प्राण-प्रतिष्ठा नवीन गणपति मूर्ति (मिट्टी अथवा धातु से निर्मित) की ही की जाती है।

गणपति विसर्जन

साहब! पत्नी की सेवा करनी पड़ती है, इसलिए ऑफिस आने में देर हो जाती है

गणपति बप्पा मोरेया

क्या है मुहूर्त

गणेश विसर्जन 23 सितंबर को सुबह 8 बजे से शुरू होकर 12 बजकर 30 मिनट तक चलेगा। फिर दोपहर को 2 बजे से शुरू होकर साढ़े तीन बजे तक चलेगा। इसके बाद शाम को 6 बजकर 30 मिनट से फिर गणपति का विसर्जन शुरू होगा जो रात के 11 बजे तक चलेगा।

खबरें यह भी::

पैसे नहीं दे पाने पर मरीज की लाश नहीं रोक सकता अस्पताल: स्वास्थ्य मंत्रालय

28 साल की सिंगर को दिल दे बैठे 65 साल के भजन गायक :HOT PHOTOS वायरल

यूंही कोई मोदी नहीं बन जाता, संघर्ष से शिखर तक : जन्मदिन विशेष PM मोदी

राधाष्टमी विशेषः आ गईं किशोरी जी, नन्द बाबा के बाद वृषभानु के घर भी बजी बधाई

हलाला के खिलाफ कोर्ट जाने वाली शबनम रानी पर एसिड अटैक: हालत नाजुक

हिजबुल मुजाहिद्दीन के एक संदिग्ध आतंकी को यू पी एटीएस ने किया गिरफ्तार