महाराजा रणजीत सिंह की मूर्ति तोड़े जाने पर भड़के बीजेपी नेता जोगिंदर सिंह खालसा, सरकार से की ये मांग

- in लखनऊ

एनटी न्यूज डेस्क/ लखनऊ

लखनऊ। पाकिस्तान के लाहौर किले में महाराजा रणजीत सिंह की मूर्ति तोड़े जाने को लेकर बीजेपी नेता और खालसा विश्व एकता मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष जोगिन्दर सिंह ने पाकिस्तानी सरकार पर हमला बोला है। जोगिंदर खालसा ने कहा कि पाकिस्तान में सिख समुदाय से जुड़े इतिहास, महापुरुषों और धरोहरों को साजिशन निशाना बनाया जा रहा है। जो निंदनीय है।

जोगिन्दर सिंह ने कहा कि महाराजा रणजीत सिंह सिख समुदाय की आस्था के प्रतीक हैं। उनकी मूर्ति को तोड़ना सिख समुदाय की धार्मिक भावनाओं पर प्रहार है। जोगिन्दर सिंह खालसा ने विदेश मंत्रालय से मांग की है कि महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा तोड़े जाने को लेकर पाकिस्तानी सरकार से बात करे और प्रतिमा का निर्माण करवाए। उन्होंने कहा कि अगर विदेश मंत्रालय ने इस पर एक्शन नहीं लिया तो वह खुद चन्दा इकठ्ठा कर पाकिस्तान जायेंगे और महाराजा रणजीत सिंह की नई प्रतिमा लगवाएंगे। साथ ही उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार से भी लखनऊ में महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा लगाने की मांग की।

जोगिन्दर खालसा ने कहा कि महाराजा रणजीत सिंह सिख साम्राज्य के नेता थे, जिन्होंने 19वीं शताब्दी में उपमहाद्वीप के पश्चिमोत्तर में शासन किया था। जून महीने में महाराज रणजीत सिंह की 180वीं पुण्यतिथि पर लाहौर किले में उनकी 9 फ़ीट ऊँची मूर्ति लगाई गयी थी। यह मूर्ति शुद्ध कांसे से बनाई गयी थी। जिसमें महाराजा रणजीत सिंह हाथ में तलवार लिए सिख पोशाक में घोड़े पर बैठे नजर आ रहे थे। महाराजा रंजीत सिंह का सन 1839 में निधन हो गया था।

बता दें कि पाकिस्तान स्थित लाहौर किले में शनिवार को दो लोगों ने महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस ने दोनों को हिरासत में लेकर ईशनिंदा क़ानून को लेकर मामला दर्ज किया है।